Anup Ghoshal death 15 December 2023.

anup ghoshal death

💐RIP Anup Ghoshal sir💐

भारतीय संगीत क्षेत्र में एक अद्वितीय अंश, बांग्ला गायक अनुप घोषाल जी का आज हमें विदाय हो गया है. उनका निधन 15 दिसम्बर 2023 को हुआ, और उम्र सिर्फ 77 वर्ष थी. इस दुखद समय में उनके परिवार ने हमें इस दुख की खबर सुनाई है. अनुप जी का सबसे प्रसिद्ध गाना ‘तुझसे नाराज नहीं जिंदगी’ चित्रपट ‘मासूम’ से है, जो 1983 में रिलीज हुआ था. उन्होंने सत्यजीत रे जी के संगीत से सजाया हुआ है, और उन्होंने उनके साथ कई अन्य गाने गाए हैं।

प्राकृतिक कारणों से अनुप जी कुछ दिनों से दक्षिण कोलकाता के एक विशेष रुग्णालय में भर्ती थे। शुक्रवार को दोपहर 1:40 बजे, उनकी सेहत में कई अंगों की कमी हो जाने के कारण, उनका निधन हो गया। अनुप जी के निधन के बाद, उनकी दो बेटियाँ शोक संतप्त हैं। अनुप जी ने 2011 में तृणमूल काँग्रेस की टिकट पर सत्र सभा चुनाव लड़ा था, और उन्होंने इस चुनाव में विजय प्राप्त की थीं।

अनुप घोषाल जी का निधन एक संगीतकार के लिए एक दुखद खोया हुआ समय है। उनका संगीत हमेशा हमारे दिलों में बसा रहेगा, और उनके योगदान को हम सदैव याद करेंगे। उनका संगीत ही उनकी अनमोल विरासत है, जो हमें हमारी संगीतसार धरोहर को समझने का मौका देती है।

अनुप जी की चरित्रित गायकी ने उन्हें संगीत क्षेत्र में एक अद्वितीय स्थान प्रदान किया है। उन्होंने अपने संगीत में दर्शकों को सुंदरता और भावनाओं का अहसास कराया। उनका गायन मधुर स्वरों से भरा हुआ था, जिससे उनके श्रोता माधुर्यपूर्ण गायन का आनंद ले सकते थे।

उनका शीर्षक गाना “तुझसे नाराज नहीं जिंदगी” ने उन्हें लोकप्रियता और मान्यता प्रदान की थी, और इस गाने ने आज भी सभी लोगों के दिलों में बसा हुआ है। 1983 में रिलीज होने वाली ‘मासूम’ चित्रपट के इस गाने ने अनुप जी को एक नए स्तर पर पहुँचा दिया था। इस गाने में सत्यजीत रे जी ने संगीत किया था, और उन्होंने अनुप जी को एक अद्वितीय आवाज में प्रस्तुत किया था।

प्राकृतिक खालावल्य के कारण अनुप जी ने कुछ दिनों से दक्षिण कोलकाता के एक विशेष रुग्णालय में भर्ती थे। शुक्रवार को उनकी स्वास्थ्य स्थिति में और बिगड़ाव होने के कारण वहां उनका निधन हो गया। उनकी मौत ने उनके परिवार को गहरे शोक में डाल दिया है, और उनकी दो बेटियाँ इस दुखद समय में अपने पिता के प्रति अपनी श्रद्धांजलि अर्पित कर रही हैं।

अनुप जी के निधन के बाद, उनकी दो बेटियाँ अब अपने पिता की कड़ी मेहनत, संघर्ष, और योगदान का आदान-प्रदान करेंगी। उन्होंने 2011 में तृणमूल काँग्रेस की टिकट पर सत्र सभा चुनाव लड़ा था, और उन्होंने इस चुनाव में विजय हासिल की थी। उनके समर्थन और उनके सेवानिवृत्ति के बारे में सुनकर, लोग उन्हें एक अच्छे नेता के रूप में मानते थे।

अनुप घोषाल जी का निधन संगीत जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है। उनका संगीत हमें सदैव उत्कृष्टता की ओर प्रवृत्त करता रहेगा और हमें संगीत की दुनिया में नए राह दिखाता रहेगा। हम उनकी आत्मा के शांति की कामना करते हैं और उन्हें हमारे बीच से हमेशा याद करेंगे।

Listen to Anup Ghoshal songs :

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *